चौथी बार जीत के प्रति आशावान हैं शिवराज सिंह चौहान
November 19, 2018 • Bishan Gupta

 

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों में जीत को लेकर शिवराज सिंह चौहान पूरी तरह से आशान्वित हैं। 'जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान मिले जन समर्थन से शिवराज सिंह काफी उत्साहवान हैं। चुनावों को लेकर उनका कहना है कि 15 वर्षों के दौरान उन्होंने विकास के जो भी काम किए मध्य प्रदेश के लिए किए, वे मील का पत्थर हैं। आजादी के बाद राज्य में इतने विकास कार्य कभी नहीं हो पाए।सड़कों और बिजली के स्तर पर आज राज्य की हालात पूरी तरह से बदल चुकी है। राज्य में हाई-वे का जाल बिछा है और बिजली की व्यवस्था इतने व्यापक रूप से लागू है। कि गांव-गांव में बिजली पहुंच चुकी है। टिकट बंटवारे को लेकर वे कहते हैं कि टिकट उम्मीदवारों के मौजूदा प्रदर्शन को देखते हुए दिया जाएगा। पार्टी किसे टिकट देती है। और किसका टिकट काटा जाएगा, यह काम रणनीतिकारों का है, मैं इसमें किसी भी तरह का हस्तक्षेप नहीं करता। इशारों ही इशारों में उन्होंने कहा कि पार्टी जिताऊ उम्मीदवारों पर भी भरोसा करेगी। कांग्रेस के प्रति जनता के बढ़ते जनसमर्थन पर शिवराज सिंह कहते हैं कि कांग्रेस राज्य में खेमे में बंटी हुई है और पार्टी के कद्दावर नेता अपनी लड़ाई को एक दूसरे पर थोप रहे हैं। ऐसे नेता जनता का क्या फायदा करेंगे। मध्य प्रदेश की जनता उनके कामकाज के आधार पर उन्हें चौथी बार मौका देगी, इसमें उन्हें कोई संदेह नहीं है। शिवराज सिंह चौहान मध्य प्रदेश भाजपा के सबसे लोकप्रिय चेहरे हैं। राज्य में प्रचार के लिए उनकी सबसे ज्यादा मांग है। राज्य की जनता के बीच शिवराज सिंह चौहान मामा के नाम से लोकप्रिय है। वे कहते हैं कि कांग्रेस ने किसानों को गुमराह किया, जातीय राजनीति का कार्ड खेला। दलितों और आदिवासियों के बीच खाई पैदा करने की कोशिश की, जिसके बाद उनकी सारी रणनीति और खोखले वादे सामने आ गए। पार्टी के अंदर ही इतनी ज्यादा लड़ाई है कि वह भाजपा का किसी भी स्तर पर मुकाबला नहीं कर सकती। राज्य में विधानसभा चुनावों को देखते हुए शिवराज सिंह चौहान ने पूरी तरह से कमर कस ली है। चुनाव से पूर्व राज्य की जनता की नब्ज टटोलने के लिए उन्होंने जनआशीर्वाद यात्रा निकाली थी। इस यात्रा में उन्हें पार्टी के मौजूदा विधायकों के बारे में जनता ने सीधे शिकायतों का पुलिंदा सौंपा था । सूत्रों का कहना है कि शिवराज सिंह चौहान उसी के आधार पर आलाकमान से मौजूदा विधायकों में से कम से कम चार दर्जन को इस बार टिकट देने के पक्ष में नहीं हैं। राज्य के सभी अंचलों में पार्टी के संगठन और पदाधिकारियों को बूथ मजबूत करने और कॉडर के साथ काम करने का आदेश जारी हो चुका है। पार्टी के स्टार प्रचारकों के कार्यक्रम और रैलियों के कार्याक्रम निर्धारित हो चुके हैं। शिवराज सिंह कहते हैं कि जमीनी स्तर पर पार्टी ने सभी तैयारियों को पूर्ण कर लिया है। टिकट बंटवारे का काम अंतिम चरण में है जिसे वरिष्ठ नेताओं और विशेषज्ञों द्वारा अंतिम रूप दिया जा रहा है। भाजपा की लगातार चौथी जीत के प्रति वे आशावान हैं और उनका मनोबल चरम पर है। वे कहते हैं कि पूरे देश की तरह मध्य प्रदेश की जनता भी नरेन्द्र मोदी और भाजपा के प्रति पूरी तरह से तन्मयता के साथ जुटी हुई है। मध्य प्रदेश में लगातार चौथी बार भाजपा की सरकार बनने में उन्हें तनिक भी संदेह नहीं है।