बिहार में फ़िर पकड़उवा विवाह, इंजीनियर को अगवा कर, करवाई जबरन शादी
August 27, 2018 • Bishan Gupta

 

 

 बिहार के वैशाली जिला में पकड़उवा विवाह का एक और मामला सामने आया । यहां रेलवे में कार्यरत एक इंजीनियर का अपहरण करके, एक युवती से उसकी जबरन शादी करवा दी गयी। इंजीनियर की मां की शिकायत पर पुलिस ने जुड़ावनपुर थाने के राघोपुर पश्चिमी इलाके से इंजीनियर को बरामद कर लिया। लेकिन तब तक उसकी शादी सम्पन्न हो चुकी थी। पकड़उवा विवाह में लड़के का अपहरण करके, उसकी लड़की से जबरन शादी करवा दी जाती है। जानकारी के अनुसार, समस्तीपुर रेल मंडल के डीजल शेड में कार्यरत इंजीनियर दुर्गाशरण जब अपने साथी बख्तियारपुर के रहने वाले इंजीनियर सौरभ के साथ बाइक से बिदुपुर थाने के ख़जपता गांव जा रहे थे, तो जैसे ही वो जंदाह सलह पावर हाउस के पास पहुंचे, तो बाइक और बोलेरो में सवार 1215 अपहरणकर्ताओं ने ओवरटेक कर उनकी बाइक रोक ली। इसके बाद दोनों की आंख में मिर्ची पाउडर डालकर इंजीनिथार दुर्गाशरण का अपहरण कर लिया। अपहरणकर्ता इंजीनियर दुर्गाशरण को अपनी बोलेरो में बैठाकर ले गये। उधर अपहरणकर्ताओं के हमले से संभलने के बाद इंजीनियर सौरभ ने तत्काल इसकी सूचना जंदाह थाना पुलिस और दुर्गाशरण के परिवार को दी। इसके बाद इंजीनियर दुर्गाशरण की मां बीणा कुमारी अपने परिवार के साथ बिदुपुर थाने पहुंची और उन्होंने धमौन के अरविंद राय, मथुरा के सुरेन्द्र सिंह, मुकुल कुमार, एवं चांदपुरा सैदाबाद के अनिल राय सहित करीब आधा दर्जन लोगों के ख़िलाफ़ अपहरण का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज करवाई। उधर इंजीनियर के अपहरण की ख़बर मिलते ही समस्तीपुर रेल मंडल मे हड़कंप मच गया। समस्तीपुर रेल मंडल के कमांडेंट विजय प्रकाश पंडित ने वैशाली एसपी से बात की, तो जंदाह पुलिस रात में ही सक्रिय हो गयी और अपहृत इंजीनियर दुर्गाशरण की सकुशल वापसी के लिए जगह जगह दबिश देने लगी। पुलिस को जल्दी ही सफ़लता हाथ लग गयी और उसने इंजीनियर दुर्गाशरण को जुड़ावनपुर थाना क्षेत्र के राघोपुर पश्चिमी गांव स्थित कामेश्वर सिंह के घर से छुड़वा लिया। लेकिन तब तक अपहरणकर्ता उसकी शादी अरविंद राय की पुत्री प्रियंका से करवा चुके थे। इंजीनियर दुर्गाशरण का कहना है कि अपहरणकर्ताओं ने उनके साथ मारपीट भी की है। चलन उधर इस मामले में नया मोड़ तब आया, इसके जब दुल्हन प्रियंका ने दूल्हे दुर्गाशरण से अपनी पुरानी जान-पहचान की बात कही। प्रियंका का कहना है कि वो दुर्गाशरण को पिछले 1 साल से जानती है। दुर्गाशरण ने शादी के नाम पर पैसे की मांग की, औरउससे उससे किनारा करना शुरु कर दिया। पुलिस ने दोनों को कस्टडी में ले लिया है। और पूरे मामले की जांच में जुट गयी है। दरअसल बिहार में पकड़उवा विवाह का चलन काफ़ी पुराना है। राज्य का वैशाली जिला इसके लिए खासतौर पर चर्चित रहा है। बिहार में पकड़उवा विवाह की दर साल दर साल बढ़ रही है। पिछले साल 2017 में 3405 दूल्हों का अपहरण करके, उन्हें पकड़उवा विवाह के बिहार का जिला बिहार बढ़ दूल्हों गयीलिए मजबूर किया गया। वर्ष 2016 में 3070 युवकों का शादी के लिए अपहरण किया गया, जबकि वर्ष 2015 में 3000, तो 2014 में 2526 दूल्हों का अपहरण हुआ और दुल्हन के परिजनों द्वारा बन्दूक की नोंक पर उनकी शादी करवाई गयी। एक अनुमान के मुताबिक, बिहार मे तकरीबन रोज 9 ऐसी शादियां हो रही हैं।