रमन सरकार के संकट मोचन बने बृजमोहन अग्रवाल
August 24, 2018 • Bishan Gupta

चुनावी वर्ष है और कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं बचा, लिहाजा वह अख़बारों की खबरों को समेटकर एक अविश्वास प्रस्ताव का मसौदा बना लाई। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में आज चमचमाते हुए हाई-वे, बिजली, किसान सुरक्षा, आदिवासी कल्याण, उच्च शिक्षा, स्वास्थ्य, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, सिंचाई के साधन और औद्योगिक विकास पूरे देश में सबसे ज्यादा प्रगति पर है, लिहाजा विपक्ष को नौद नहीं आ रही है। राज्य के प्रमुख मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश की जनता ने तीन बार भाजपा पर विश्वास जताया है और ऐसे में एक बार फिर जनता का भरोसा भाजपा के प्रति बढ़ रहा है, जो कांग्रेस को हजम नहीं हो रहा है। अविश्वास प्रस्ताव का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस की हताशा और निराशा की इससे ज्यादा बड़ी बात क्या हो सकती हैं कि विधानसभा के अंतिम सत्र में भी वह अविश्वास प्रस्ताव लाने की सोचने लगी। कांग्रेस की मानसिकता पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि कुछ किए बिना ही जय-जयकार नहीं होती.. राज्य में आज चारों तरफ भाजपा की जय-जयकार इसलिए हो रही है, क्योंकि हमने पंद्रह वर्षों में दिन रात राज्य के विकास के लिए काम किया है।छत्तीसगढ़ विधानसभा के अंतिम सत्र में कांग्रेस द्वारा पेश अविश्वास प्रस्ताव पर राज्य के कद्दावर मंत्री बृजमोहन बृजमोहन अग्रवाल ने कांग्रेस के एक-एक आरोप का जवाब दिया। कांग्रेस की तरफ से पेश अविश्वास प्रस्ताव को सिरे से खारिज करते हुए बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि हमने तो मध्य प्रदेश के वक्त से इस तरह के बहुत अविश्वास प्रस्ताव देखे हैं। कांग्रेस को लताड़ते हुए उन्होंने कहा कि अख़बारों की कतरनों को इकट्ठा करके कांग्रेस ने जिस तरह से अविश्वास प्रस्ताव का मसौदा तैयार किया है, लोग उसे देखकर हंस रहे हैं। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने विपक्ष के हर सवाल का माकूल जवाब सदन के पटल पर दिया है। उन्होंने कहा कि किसानों को धान के मूल्य पर बोनस, किसान फसल बीमा योजना, युवाओं को मुफ्त लैपटाप, शहर-शहर नए कॉलेज, अस्पताल, महिला स्वयं सहायता समूह, रोजगार और आदिवासी इलाकों का विकास आदि बहुत से काम किए हैं जिससे हमारी सरकार के प्रति लोगों का पक्का भरोसा और विश्वास है, लिहाजा कांग्रेस का यह अविश्वास प्रस्ताव हमारे विश्वास के समक्ष कहीं नहीं टिकता। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि चूंकि यह काबिलेगौर है कि कांग्रेस ने 6 जुलाई को छत्तीसगढ़ विधानसभा के अंतिम सत्र में रमन सिंह सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया था। कांग्रेस का यह प्रस्ताव सदन में औंधे मुंह गिर गया। कांग्रेस के इस अविश्वास प्रस्ताव पर जब बृजमोहन अग्रवाल जवाब देने के लिए खड़े हुए और उन्होंने सिलसिलेवार ढंग से सभी सवालों का उत्तर दिया, तो मुख्यमंत्री ने मेज थपथपा कर उनकी बातों को सराहा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस आज छत्तीसगढ़ के चुनावी मैदान से भाग खड़ी हुई है और अपनी खीझ उतारने के लिए इस तरह के अविश्वास प्रस्ताव का सहारा ले रही है। उन्होंने कहा कि राज्य की जनता लगातार चौथी बार भाजपा के ऊपर विश्वास जता रही है। भाजपा की सुराज यात्रा और विकास के कामों को जनता हाथों-हाथ ले रही हैं। विपक्ष के पास राज्य में बने रहने के लिए कोई मुद्दा नहीं है।